उप्र में मामले पर निरंतर नजर रखने से दोषी पुलिसकर्मी के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल हुआ:एनएचआरसी

नयीदिल्ली,पांचफरवरी(भाषा)राष्ट्रीयमानवाधिकारआयोग(एनएचआरसी)नेशुक्रवारकोकहाकिउत्तरप्रदेशमेंबलरामपुरजिलेकेएकपुलिसथानेमेंहिरासतमेंबलात्कारकेमामलेपरउसनेनिरंतरनजररखी,जिसकेपरिणामस्वरूपराज्यसरकारनेदोषीपुलिसकमियोंकेखिलाफकार्रवाईकी।आयोगनेएकबयानमेंयहभीकहाकिउसकीकोशिशोंकेचलतेमामलेमेंतीनपीड़ितोंकोराहतमिलसकी।बयानमेंकहागयाहै,‘‘एनएचआरसीकेनिरंतरनजररखनेकेपरिणामस्वरूपउत्तरप्रदेशसरकारनेअवैधहिरासतमेंरखने,प्रताड़ितकरने,झूठेमामलेमेंफंसाने,हिरासतमेंबलात्कारकरनेकोलेकरएकउपनिरीक्षककेखिलाफभारतीयदंडसंहिताकीधारा376(2)तथा506केआरोपपत्रदाखिलकिया।’’यहघटनाजिलेकेललियापुलिसथानेकीहै।आयोगकेबयानमेंकहागयाहै,‘‘इसकेअलावा,इसविषयमेंउपयुक्तजांचनहींकियेजानेकोलेकरतत्कालीनअतिरिक्तपुलिसअधीक्षकऔरपुलिसउपाधीक्षक(डीएसपी),बलरामपुरकेखिलाफविभागीयकार्रवाईकीगई।’’एनएचआरसीनेराज्यकेमुख्यसचिवऔरपुलिसमहानिदेशक(डीजीपी)कोयहभीदेखनेकोकहाकिक्याविभागीयकार्रवाईमामलेमेंकानूनकेमुताबिकशीघ्रतासेशेषदोषीपुलिसकर्मियोंकेखिलाफपूरीहोगईहै,जिनमेंपर्यवेक्षीअधिकारीभीशामिलथे।आयोगनेअपनीजांचमेंपायाथाकिजिलेकेएकयुवकऔरएकलड़कीघरसेभागगयेथेतथा2014मेंउन्होंनेमुंबईमेंशादीकरलीथी।लड़कीकेपितानेइसविषयमेंपुलिसकेपासअपहरणकीएकशिकायतदायरकीथी,जिसकेबादनवविवाहितजोड़ेकोजिलेकेमथुरापुलिसचौकीबुलायागयाथा।आयोगनेकहाकिहालांकिइसविषयमेंउचितकानूनीप्रक्रियाकापालनकरनेकेबजायउनदोनोंकोपुलिसचौकीमें12-13अगस्तकोअलग-अलगकोठरीमेंहिरासतमेंरखागया।एनएचआरसीनेकहा,‘‘उपनिरीक्षकनेलड़कीकायौनउत्पीड़नकिया।जबलड़कीनेइसबारेमेंशिकायतकीतोइसविषयमेंकोईफौरीकानूनीकार्रवाईनहींकीगई।’’आयोगनेकहा,‘‘पुलिसनेयुवकपरबलात्कारकाआरोपदर्जकियालड़कीकेससुरकोभीझूठेमामलेमेंफंसादिया।लड़कीकोउसकेसमर्थकोंपरएकअन्यप्राथमिकीदर्जकरनेकीधमकीदेकरउसेअपनेआरोपवापसलेनेकेलिएमजबूरकियागया।’’आयोगनेयहभीपायाकिउसकेनोटिसजारीकरनेपरबलरामपुरकेतत्कालीनपुलिसअधीक्षकघटनाओंकोसिलसिलेवारतरीकेसेपेशकरनेमेंनाकामरहेथे।आयोगकीसिफारिशपरलड़की,उसकेपतिऔरलड़कीकेससुरकोक्रमश:पांचलाख,तीनलाख,डेढ़लाखरुपयेकीअंतरिमराहतदीगई।