वेतन की चिता नहीं, निभा रहे इंसानियत का फर्ज

जागरणसंवाददाता,उरई:बहुतसेलोगऐसेभीहैं,जोआपदाकेसमयमेंपूरीतरहमानवताकेप्रतिसमर्पितरहतेहैं।इनमेंसेएकहैंजिलाअस्पतालमेंतैनातडॉ.अरविदश्रीवास्तव।इन्हेंचारमाहसेवेतननहींमिला।लेकिनइसकीउन्होंनेचितानहींकी,औरपूरेसमर्पणकेसाथमरीजोंकीसेवामेंजुटेहुएहैं।

जिलाचिकित्सालयकाब्लडबंदहोनेवालाथा।ऐसेमेंपूर्वडीएमडॉ.मन्नानअख्तरनेझांसीसीएमओऔरडीएमकोपत्रलिखकरडॉ.अरविदश्रीवास्तवकोरोकेरखा।जिससेजिलेकीसुचारूरूपसेसेवाएंलोगोंकोमिलतीरहे।अबइसकोरोनाकालमेंभीलगातारमरीजोंकीसेवाकररहेहैं।वेतनरुकनेकाअसलकारणयहहैकिझांसीमंडलकेडीएमनेपैथोलॉजिस्टइंचार्जडॉ.अरविदश्रीवास्तवकोवापसबुलायाथा।इसकेबादसीएमओकेनिर्देशपरकामकररहेहै।जनवरीसेलेकरअबतकचारमाहबीतचुकेहैं।लेकिनअभीतकझांसीसीएमओनेउनकावेतननहींदियाहै।अगरवहयहांसेचलेजातेहैंतोजिलाअस्पतालकाब्लडबैंककीसेवाएंभीबाधितहोजाएगा।वहींकोरोनाकालमेंजहांमेडिकलकॉलेजऔरजिलाअस्पतालकीओपीडीबंदहै।वहींइमरजेंसीअबखासाभीड़देखनेकोमिलरहाहै,लेकिनपूरीनिष्ठासेकामकरअपनीसेवादेरहेहैं।ब्लडबैंककोसुचारूकरनेकेलिएप्रभारीमंत्रीनेकीथीमांग

जिलेमेंजनवरी2019सेपहलेमरीजोंकोभारीपरेशानीउठानीपड़रहीथी।इसकेबादजिलेकीप्रभारीमंत्रीनीलिमाकटियारनेउससमयडीएमऔरअपरनिदेशकसेबातकरकेपैथालॉजिस्टकेइंचार्जडॉ.अरविदश्रीवास्तवकोबुलायाथा।जिससेजिलामहिलाअस्पतालसहितगंभीररूपसेचोटिलव्यक्तिकेलिएकाफीसहूलियतमिलनेलगा।कार्यकालकेदोसालमेंब्लडडोनेटकाविवरणमाह-2019-2020

नोट-आंकड़ेयूनिटमेंहैं।अबतककैंपकेमाध्यमसेलोगोंनेकियाब्लडडोनेट

जिलेमें2019से2020तककुल36कैंपकाआयोजनकियागयाहै।जिसमें535यूनिटब्लडप्राप्तहुआ।जिससेमरीजोंकोब्लडकेलिएपरेशाननहींहोनापड़ा।हरमाहकैंपकाआयोजनजिलाअस्पतालयाक्षेत्रोंमेंलगातारकियाजाताहै।जिससेखूनकीउपलब्धताब्लडबैंकमेंभरपूरहोजातीहै।कोट

जिलाअस्पतालकाब्लडबैंकसुचारूरूपसेचलतारहे।इसकेलिएकोशिशकीहै।वेतनकेसंबंधमेंभीपत्रबनाकरभेजदियागया।किसकारणदिक्कतआरहीहै।यहडीएमकोपुन:अवगतकरायाजाएगा।

डॉ.ऊषासिंह,मुख्यचिकित्साअधिकारी