वसंत काल है विद्यार्थी जीवन: एसडीएम

बिजनौर,जेएनएन।राष्ट्रीयसेवायोजनाइकाईकेसातदिवसीयशिविरकासांस्कृतिककार्यक्रमकेसाथसमापनहुआ।एसडीएममनोजकुमारसिंहनेकहाकिविद्यार्थीजीवनहमारेजीवनकावसंतकालहैऔरकन्याएंसौभाग्यकाप्रतीकहैं।धैर्यऔरसाहससेकिसीभीसमस्याकासमाधाननिकालाजासकताहै।

गायत्रीशक्तिपीठमेंसाहूजैनकालेजकेएनएसएसछात्राइकाईशिविरकेसांस्कृतिककार्यक्रमकाएसडीएममनोजकुमारसिंहनेदीपप्रज्ज्वलनकरशुभारंभकिया।कार्यक्रमअधिकारीडा.अनिलकुमारकेनिर्देशनमेंछात्राओंनेसांस्कृतिककार्यक्रमप्रस्तुतकिया।प्राचार्यडा.एकेमित्तलनेकहाकिसातदिवसीयशिविरमेंस्वयंसेविकाओंनेयोग,पर्यावरण,नारीसशक्तीकरण,अल्पबचतआदिजोभीगतिविधियांसीखीहैं,उन्हेंजीवनमेंउतारनेकालक्ष्यभीनिर्धारितकरें।गायत्रीशक्तिपीठकेव्यवस्थापकडा.दीपककुमारनेकहाकिविद्यार्थीराष्ट्रकेभाग्यविधाताहैं।विद्यार्थीराष्ट्रकीएकता,अखंडताकेप्रतिनिष्ठावानबनें।विद्यार्थियोंनेदेशकीएकता,अखंडताबनाएरखनेकासंकल्पलिया।डा.एनपीसिंह,डा.शुभामाहेश्वरी,डा.ओमवीर,डा.बलरामसिंह,डा.मनीषकुमार,डा.गुरुप्रीत,डा.दीपकत्रिपाठी,डा.पवनकुमार,डा.जयेशकुमारआदिमौजूदरहे।वहींगांवखिदरीपुरामेंएनएसएसछात्रइकाईकेसातदिवसीयशिविरकासांस्कृतिककार्यक्रमकेसाथसमापनहुआ।कार्यक्रमअधिकारीडा.शैलेंद्रपालसिंहनेकहाकिइच्छाशक्तिकेसाथकियाकार्यसार्थकहोताहै।प्राचार्यडा.एकेमित्तलनेस्वयंसेवकोंकोउत्साह,उमंगऔरलगनेसेकार्यकरनेकीसलाहदी।ऋषभकुमार,आदित्य,विशालकुमार,मोहम्मदसलमान,मोहम्मदतारिक,संजू,राहुलकुमारनेगीत,गजल,कविताकीमनमोहकप्रस्तुतिदी।कार्तिकेयवर्माकेसंचालनमेंआयोजितकार्यक्रममेंडा.मनीषकुमार,डा.परिमल,शक्तिसिंहआदिमौजूदरहे।