यूबीआई कारोबार सम्‍मेलन : बोले वक्‍ता - 'महामारी के बाद बैंकिंग व्यवसाय के समक्ष थी ढेरों चुनौतियां'

वाराणसी,जागरणसंवाददाता। यूनियनबैंकऑफइंडिया(यूबीआई)केक्षेत्रीयकार्यालयकीओरसेभेलखा(हरहुआ)स्थितएकहोटलमेंवार्षिककारोबारसम्मेलनकाआयोजनकियागया।इसमेंवाराणसीऔरचंदौलीके109शाखाओंनेप्रतिभागकिया।वार्षिककारोबारसम्‍मेलनकेआयोजनकेदौरानवक्‍ताओंनेकोरोनाकालऔरकोरोनाकालकेबादबैंकिंंगकीचुनौतियोंसहितकारोबारकोबढ़ानेमेंआरहीदुश्‍वारियोंऔरभविष्‍यकीयोजनाओंपरमंथनकिया।बैंकिंगसेक्‍टरसेजुड़ेलोगोंनेइसदौरानअपनेविचारभीरखेऔरयोजनाओंकीरूपरेखाभीपेशकरकारोबारीसहूलियतोंकेअलावाबाजारकोसहयोगऔरआपसीसमन्‍वयकोलेकरभीमंथनकिया।

मुख्यअतिथिमहाप्रबंधकविकासकुमारनेकहाकिमहामारीकेबादबैंकिंगव्यवसायकेसमक्षढेरोंचुनौतियांथी।बावजूदउसकेबैंककीविभिन्नयोजनाओंकेतहतलाभार्थियोंकोऋणउपलब्धकरवाकरउनकीमददकीगई।उन्होंनेसभीशाखाप्रबंधकोंसेआग्रहकियाकिपात्रलाभार्थियोंकीहरसंभवमददकरें।सहायकमहाप्रबंधकविनयकुमारसिंहऔररणधीरसिंहनेकारोबारविकासकीरणनीतिपरअपनाविचाररखा।बैंककेक्षेत्रप्रमुखसुनीलकुमारनेशाखाप्रबंधकोंकेसमक्षवर्तमानवित्तीयवर्षकेनिर्धारितलक्ष्यकोप्राप्तकरनेकेलिएरणनीतिबनाकरकार्यकरनेकाआग्रहकिया।इसदौरानकारोबारीजटिलतओंपरभीविचारविमर्शकियागया।

उन्होंनेशाखाप्रबंधकोंकोसमय-समयपरसमीक्षा,तनावमुक्तकार्यकाहुनर,नेतृत्वकोप्रभावितकरनेवालेकारक,दूरदृष्टि,कार्यमेंनयापन,सरकारकेदिशा-निर्देशोंकापालन,धोखाधड़ीसम्बंधितसतर्कता,बैंकिंगकार्यमेंडिजिटलप्लेटफार्मकाउपयोग,साइबरसुरक्षाकीजानकारी,बैंकपूंजीकीरिकवरीविषयपरविचारदिया।संचालनआशीषदेबताऔरधन्यवादपृथ्वीशरणरौसरियानेदिया।इसअवसरपरउमेशसिंह,अटलमिश्रा,बीबीतिवारी,प्रवीणझा,शंकरसामंत,राजेशनागवंशी,डा.अमृतांशु,उन्नतिपांडेय,मानवेंद्रसिंह,राकेशकुमार,सोनमजायसवाल,आयुषीसिंह,शशांकशर्मा,सुधीरकुमारथे।